मंगलवार, 2 फ़रवरी 2010

समस्या अकेली नहीं आती

जब कभी तुम समस्याओं से घिर जाओ
और कोई ध्यान रखने वाला न हो
और कहीं कोई दोस्त न मिले
तो स्मरण कीजिए कि परमात्मा तुम्हारे निकट है
वह तुम्हारी हर प्रार्थना सुनता है

जब यह जीवन सूना दिखाई पड़े
और सारे सपने टूटते दिखाई पड़ें
और तुम्हारे शब्दों को कोई न सुने
तो स्मरण कीजिए कि परमात्मा तुम्हारा प्रेमी है
उसका ह्रदय तुमसे कभी रिक्त नहीं होता

जब तुम्हारा समय अच्छा न चल रहा हो
और तुम्हारा दिल कहीं न लग रहा हो
और तुम्हें कहीं चैन न मिल रहा हो
और तम्हें कुछ सूझ न रहा हो
तो स्मरण कीजिए कि परमात्मा तुम्हारी मदद करेगा
वह तुम्हें शिखर पर ले जाने में पथप्रदर्शक बनेगा

जब समस्याएँ तुम्हें चारों ओर से घेर लें
और संसार से तुम पुरी तरह निराश हो जाओ
तो स्मरण कीजिए कि कोई समस्या कभी अकेली नहीं आती
परमात्मा हमेशा उसके साथ आता है
आपकी मदद के लिए ... ताकि आप मजबूत बन सकें
और अपने वजूद को पहचान सकें