सोमवार, 25 जनवरी 2010

बहुमूल्य चीज

क्या कभी आपने गौर किया कि बहुमूल्य चीज़ अपने आरम्भिक दौर में कोड़ियों के भाव बिकी हैं या उनका मूल्य पहचाना नहीं गया, लेकिन जब उनका मूल्य पहचाना गया तो वे अनमोल हो गई । आपकी प्रतिभा भी ऐसी ही चीज़ है । यदि आप इसे पहचान लेते हैं, तो शीघ्र ही इसे संसार भी पहचान लेगा ।

4 टिप्‍पणियां:

  1. गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामनायें!

    उत्तर देंहटाएं
  2. So true........
    Bilkul sahee baat kahee aapane.......
    गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामनायें.......

    उत्तर देंहटाएं
  3. आपको भी गणतंत्र दिवस कि बधाई भारती जी...

    प्रतिभा कि बात शायद आप ठीक कहते हैं..\पर .हम अभी ज्यादा सहमत नहीं हैं इस से...

    उत्तर देंहटाएं
  4. भारती जी,
    सिर्फ अपनी प्रतिभा को पहचान लेना काफी नहीं होगा...
    अपनी प्रतिभा को पहचान कर विश्वास के साथ सबके सामने रखना पड़ेगा....लोगों को बताना होगा कि मैं प्रतिभाशाली हूँ...क्योंकि दुनिया कहाँ मानती है इतनी आसानी से किसी की प्रतिभा को...
    लेकिन सबसे ज़रूरी है ..अपनी प्रतिभा को `ईमानदारी` से पहचानना....और अपनी कमियों को स्वीकारते हुए उनपर मेहनत करना...
    धन्यवाद...

    उत्तर देंहटाएं