रविवार, 11 अक्तूबर 2009

समस्या और समाधान


समस्याएँ हरेक के जीवन में आती हैं समस्याएँ हैं तो उनके कुछ कारण भी होते हैं और यदि कारण हैं, तो उनको दूर करने का उपाय भी है समस्याओं के समाधान के लिए जरुरी है कि समस्या को ठीक से समझें समस्या को समझने के लिए वैज्ञानिक दृष्टिकोण अपनाएँ तथ्यों की पूरी जानकारी लीजिए एक बार आप समस्या के मूल कारणों को जान लेते हैं, तो उनके निदान के उपाय भी दिखाई देने लगते हैं

समस्या समाधान में व्यक्ति की मौलिक विशेषताएँ जैसे उसका चीजों को देखने का दृष्टिकोण, धैर्य शक्ति, विवेक-बोध और चिंतन की गहराई तथा चीज़ों का विश्लेषण और संश्लेषण करने का ढ़ंग उसे अन्य लोगों से अलग करता है

एक ही समस्या को भिन्न-भिन्न लोग भिन्न-भिन्न ढ़ंग से लेते हैं । जीवन में आने वाली समस्याओं से घबराना नहीं चाहिए बल्कि उनका विश्लेषण, संश्लेषण कर उनके कारणों को जानना चाहिए और कारणों को जान कर उन कारणों को हटाने का उपाय करना चाहिए इसके लिए अंतर्विवेक से काम लीजिए आप निश्चित ही समस्या का समाधान पा लेंगे कोई भी समस्या मनुज से बड़ी नहीं है जीवन में आई हर समस्या का समाधान है

4 टिप्‍पणियां:

  1. हम भी इसी विचार के हैं, और "रूट काज एनालिसिस" की अनुपालना करते हैं.

    पर हमारी समस्या यह है की यदि इन्सान, जैसा कि प्रायः होता है, जान-बुझ कर पैसा कमाने के लालच में समस्याएं कड़ी करता है. इसका क्या समाधान है? क्या पैसा देकर ही कम कराया जाये? यदि शिकायत करते हैं तो उनका मिला-जुला ग्रुप भविष्य में तरह-तरह से परेशान करता है, और परिणाम स्वरुप न केवल ज्यादा आर्थिक हनी उठानी पड़ती है, बल्कि कानूनी पेचादिगियों में भी उलझा दिए जाते हैं.......मतलब कि "आ बैल मुझे मार" जैसी हालत कर बैठते है............. इस पर थोडा प्रकाश डालें...

    चन्द्र मोहन गुप्त
    जयपुर
    www.cmgupta.blogspot.com

    उत्तर देंहटाएं
  2. जीवन में आई हर समस्या का समाधान है ।
    और फिर जीवन समस्याओ के बिना अधूरी भी तो है.

    उलझन मे उलझे बिना

    उलझन नही सुलझती

    उत्तर देंहटाएं
  3. जीवन में आई हर समस्या का समाधान है-सत्य वचन!!

    उत्तर देंहटाएं